ITR Meaning in Hindi

ITR Meaning in Hindi: आईटीआर का मीनिंग क्या होता है? आईटी क्या है और इसका फुल फॉर्म क्या है? ITR कितने प्रकार के होते हैं? ITR कौन भर सकता है? आदि की डिटेल में जानकारी।

अक्सर हम लोग ITR सुनते आ रहे हैं। जो लोग बिजनेस या व्यापार करते हैं तो शायद उनको पता होगा कि आईटीआर क्या होता है, लेकिन बहुत से लोग ऐसे हैं, जिनको आईटीआर का फुल फॉर्म मीनिंग नही पता होगा। अगर आपको भी ITR Meaning in Hindi या आईटीआर क्या है? इसका फुल फॉर्म क्या होता है, इसके बारे में नही मालूम है तो चलिए हम आपको बताते हैं।

ITR Full Form in Hindi

आईटीआर की फुल फॉर्म इनकम टैक्स रिटर्न होती है।

ITR Meaning in Hindi

आईटीआर (इनकम टैक्स रिटर्न का) का मीनिंग आयकर वापसी होता है।

What is ITR in Hindi

ITR File को हम Income Tax Return File कहते है, ITR फाइल या इनकम टैक्स रिटर्न फाइल अपनी आय की जानकारी टैक्स department को देने के लिए भरी जाती है . ताकि आप पर उचित टैक्स लगे या फिर आप का कटा हुआ टैक्स आपको बापिस मिल सके .

ये भी पढ़ें: Bank फुल फॉर्म इन हिंदी

आपकी आमदनी अगर टैक्स के दायरे में आती है तो आपको उस पर Income Tax सरकार को चुकाना होता है। इसी को आयकर या इनकम टैक्स कहा जाता हैं। आयकर (Income Tax) से होने वाली इनकम को सरकार अपनी गतिविधियों और अपने देश की जनता को सुविधाये और सेवाएं देने के लिए खर्च करती है। आईटीआर (Income Tax Return) किसी भी कारोबारी को साल में एक बार जमा करना होता है। जिसमे आप सरकारी को अपनी आमदनी, खर्च, निवेश और टैक्स देनदारी के बारे में बताते हैं। इनकम टैक्स रिटर्न फ़ाइल या फॉर्म इसलिए भरा जाता है ताकि आप पर सही और उचित टैक्स लगे या आपका कटा हुआ टैक्स आपको बापिस मिल सके । इसी को Income Tax Return या आयकर वापसी कहते हैं।

आयकर रिटर्न वास्तव में आपके Business की आमदनी और खर्च का लिखित हिसाब- किताब है होता है। जिसमे आप केंद्र सरकार को विस्तार से ये जानकारी देते हैं कि उस वित्त वर्ष में आपने अपनी नौकरी, कारोबार या Business से कितनी कमाई की है।

इसके साथ ही ITR में आप सरकार के द्वारा निर्धारित टैक्स की बचत के विकल्प में निवेश करने, आवश्यक चीजों पर खर्च करने और एडवांस टैक्स चुकाने की जानकारी भी इसमे देते हैं।

Income Tax Return और income Tax में क्या अंतर है?

आप अपनी Income पर जो सरकार को Tax देते हैं, उसको Income Tax कहते हैं। वंही इनकम टैक्स रिटर्न वास्तव में आपके खर्च और आमदनी का लिखित हिसाब-किताब होता है जिसमे आप कोई।सरकार को टैक्स के रूप में पैसा नही दे रहे हैं, बल्कि आप अपनी Income और खर्च के बारे में सिर्फ सरकार को जानकारी देते हैं। जिससे कि आपका एक्स्ट्रा टैक्स के रूप में कटा पैसा वापस मिल सके।

ये भी पढ़ें: SIM फुल फॉर्म इन हिंदी

ITR से सम्बंधित गूगल में सर्च किये जाने वाले प्रश्न:

ITR किन लोगों को भरना है?

कोई भी भारत का नागरिक हैं या प्रवासी भारतीय नागरिक हैं और उसकी एक वित्त वर्ष में कुल सालाना आय 2,50,000 रुपये से अधिक है तो उसके लिए इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) भरना जरूरी है। अगर आपकी सारी आमदनी सिर्फ कृषि और उससे जुड़े कार्यों से होती है तो इस पर आपको आईटीआर भरने की जरूरत नहीं है।

ITR का फुल फॉर्म क्या है?

आईटीआर का फुल फॉर्म इनकम टैक्स रिटर्न होता है।

ITR कौन भर सकता है?

कोई भी Businessman, अनलिस्टेड शेयरों में निवेश करने वाला, किसी कंपनी का इंडिविजुअल डायरेक्टर, या किसी फर्म/ कंपनी में पार्टनर के तौर पर कमाई करने वाला व्यक्ति ITR-3 फॉर्म भर सकता है। इसके अलावा वह लोग ये फॉर्म फॉर्म भर सकते हैं जो सैलरी/पेंशन, हाउस प्रॉपर्टी, ब्याज आदि से पैसा कमाते हैं

ITR कितने प्रकार के होते हैं?

ITR सात तरह के होते हैं।

itr-2 means in hindi

ऐसे इंडिविजुअल और हिंदू अविभाजित परिवार जिनको कृषि, एक से ज्यादा की प्रॉपर्टी से किराए, कैपिटल गेन, लॉटरी व अन्य स्रोत से आय होती है तो इन लोगों को ITR 2 भरना होता है।

ITR 3 means in Hindi

ऐसे साझेदार Business जिनको ब्याज, सैलरी, बोनस से आमदनी, कैपिटल गेन, एक से ज्यादा की प्रॉपर्टी से किराए आय होती है उनको फॉर्म 3 भरना जरूरी होता है। आसान भाषा में समझें यो खुद कोई बिजनेस करता हो, या फिर किसी प्रोफेशन से आमदनी प्राप्त करता है तो उसको ITR 3 फॉर्म भरना चाहिए।

ITR 4 means in Hindi

ऐसे इंडिविजुअल और HUF (हिंदू अविभाजित परिवार) से संबंधित लोग जिनको बिजनस, प्रोफेशन जैसेकि डॉक्टर, वकील आदि के जरिए इनकम हो रही हो, तो उनको ये फॉर्म भरना होता है।

ITR भरने के फायदे

आईटीआर भरने वाले को लोन या क्रेडिट आसानी से मिल सकता है। ITR भरने के बाद अगर किसी का रिफंड बनता है तो उसको वापस रुपये मिल जाते हैं। ITR भरने वाले को लोन मिलने के चांस ज्यादा होते हैं। अगर आप ITR भरते हैं तो सरकारी विभागों का आपको कांट्रेक्ट मिल सकता है। ITR की रसीद एड्रेस प्रूफ का काम करती है। ITR भरने से आपको टैक्स छूट भी मिल सकती है।

उम्मीद है ITR Meaning in Hindi ये लेख आपको पसंद आया होगा, क्योंकि यंहा पर मैंने ITR से जुड़ी सारी जानकारी प्रदान की है। फिर भी अगर आपको इस लेख से संबंधित अन्य कोई जानकारी चाहिए तो आप कमेंट के माध्यम से पूंछ सकते हैं।

Leave a Comment