CA Full Form in Hindi

CA Full Form in Hindi: सीए की फुल फॉर्म क्या होती है? CA Kya hai? सीए कैसे बन सकते हैं? योग्यता, कोर्स, फीस, स्कोप, सैलरी आदि की जानकारी।

आज के इस आर्टिकल का हमारा बिषय CA Full Form in Hindi है, इसलिए यंहा पर हम आपको CA की फुल फॉर्म के साथ ही, इससे जुड़ी सारी जानकारी देंगे। अगर आप सीए बनना चाहते हैं तो भी ये लेख आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाला है। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप CA से संबंधित हर तरह की जानकारी से बाक़िब हो जायेगे। चलिये सबसे पहले CA ka Full Form बताते हैं।

CA Full Form in Hindi

सीए की फुल फॉर्म चार्टेड एकाउंटेंट (CA-Chartered Accountant) होती है।

What is CA in Hindi

सीए एक चार्टेड अकाउंटेंट कोर्स में एडमिशन की एक परीक्षा होती है। इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (ICAI) तीन चरणों मे सीए परीक्षा को आयोजित करता है । जोकि फाउंडेशन, इंटरमीडिएट और फाइनल हैं। इन तीनों स्तरों को पास करने वाले अभ्यर्थियों चार्टर्ड एकाउंटेंट के रूप में अपना कैरियर बना सकते हैं।

चार्टर्ड अकाउंटेंट यानीकि सीए हमारे देश में काफी प्रतिष्ठत कैरियर माना जाता है। जिस तरह से मेडिकल के फील्ड में नीट और इंजीनियरिंग के फील्ड में आईआईटी सबसे अच्छे कैरियर के विकल्प होते हैं, उसी तरह से एकाउंटिंग के फील्ड में चार्टेड अकॉउंटेंट काफी प्रतिष्ठित पद माना जाता है।

ये भी पढ़े: Bank फुल फॉर्म इन हिंदी

कॉमर्स से ग्रेजुएशन करने वाले ज्‍यादातर छात्रों का सपना चार्टर्ड अकाउंटेंट (CA) कोर्स करना ही होता है। लेकिन ये तो सभी को पता है कि CA बनना इतना आसान काम नहीं है। इसके लिए छात्रों को खूब मेहनत करनी होती है और कठिन परीक्षा से होकर गुजरना पड़ता है।

How Become CA in Hindi

CA बनने के लिए उम्मीदवार को 12वी के बाद में सीपीटी परीक्षा को पास करना पड़ता है। सीपीटी (CPT) को पास करने के बाद में आप आईपीसीसी (IPCC) परीक्षा के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। हालांकि 12वीं के बाद काफी स्टूडेंट्स इतना ज्यादा अवेयर नही होते हैं तो कई बार ऐसे छात्र सीपीटी परीक्षा देने से चूक जाते हैं। तो हम आपको बता दें कि आप अपना ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद भी इसकी परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

आप ग्रेजुएट छात्र है, सीधा ही आईपीसीसी में प्रवेश पा जाते हैं। आईपीसीसी में सीधे ही प्रवेश पाने के लिए ग्रेजुएशन में आपके 55 फीसदी अंक होने चाहिए।

CA Course Duration in Hindi

‌ग्रेजुएशन के बाद CA कोर्स करने की न्यूनतम अवधि 3 वर्ष होती है, क्योंकि इसमे आप खुद को पंजीकृत करने के 9 महीने बाद में सीधे ही आईपीसीसी परीक्षा को दे सकते हैं। जिसके बाद चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए आपको 2.5 से 3 साल की आर्टिकलशिप भी पूरी करनी पड़ती है। वहीं अगर आपके पास में सीपीटी परीक्षा से छूट पाने के लिए आवश्यक अंक है तो सीपीटी छूट आप प्राप्त करके स्नातक के बाद सीधे ही सीए के साथ अपनी आर्टिकलशिप को शुरू कर सकते हैं और आगे IPCC परीक्षा दे सकते हैं।

ये भी पढ़े: DRA फुल फॉर्म इन हिंदी

Fees of CA in Hindi

ग्रेजुएशन के बाद में CA की फीस लगभग 19 हजार से 27 हजार रुपये के आसपास है। इसमें पंजीकरण शुल्क, पाठ्यक्रम शुल्क लेख पंजीकरण शुल्क और सूचना प्रौद्योगिकी शुल्क ये सभी शामिल हैं। वहीं इसमे आपकी फीस इस पर भी निर्भर करती है कि इन परीक्षाओं को पास करने के लिए आप कितने अटेंप्ट लेते हैं। अगर आप CA की कोचिंग करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 50 हजार से लेकर 2 लाख रूपये तक खर्च करने पड़ सकते हैं।

सीए का कार्य (Duties of CA)

फाइनेंशियल ऑडिट करना।
फाइनेंशियल सिस्टम के साथ ही बजट का मैनेजमेंट करना।
वित्तीय सलाह और जानकारी देना।
क्लाइंट से संपर्क करना
टैक्स प्लनिंग के संबंध में ग्राहकों को सलाह देना।
फाइनेंशियल कंपनी के सिस्टम का रिव्यू करना और उसके जोखिम का एनालिसिस करना।
फाइनेंसियल जानकारी व सिस्टम की जांच के लिए टेस्ट करना।
फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन के बारे में क्लाइंट को सलाह देना।
अकाउंटिंग के रिकॉर्ड्स को मेंटेन करना और छोटे व मझोले बिजनेस के लिए अकाउंट मैनेजमेंट इनफार्मेशन तैयार करना।
मासिक और सालाना अकाउंट के साथ फाइनेंसियल स्टेटमेंट को तैयार करना।
बिजनेस में इम्प्रूवमेंट लाने के लिए अपने क्लाइंट को सलाह देना। इसके साथ ही ल दिवालियापन से निपटने के उसको तरीके बताना
धोखाधड़ी से संबंधित पता लगाना और उसको निपटना।
इंटरनल और एक्सटर्नल ऑडिटर के साथ में मिलकर किसी भी गड़बड़ी को निपटना।

Career option after CA in Hindi

CA पूरा करने के बाद आप आसानी से किसी भी मल्टीनेशनल कंपनी में चार्टर्ड अकाउंटेंट के तौर पर जॉब शुरू कर सकते हैं। इन कंपनियों में आप फाइनेंस, फाइनेंशियल बिजनेस एनालिस्ट, अकाउंट्स मैनेजर, अकाउंट्स एवं टैक्स डिपार्टमेंट में फाइनेंस मैनेजर, ऑडिटिंग व इंटरनल ऑडिटिंग, मैनेजिंग डायरेक्टर, स्पेशल ऑडिट्स सहित चेयरमैन, सीईओ, फाइनेंस डायरेक्टर, चीफ अकाउंटेंट, फाइनेंशियल कंट्रोलर, चीफ इंटरनल ऑडिटर जैसे हाइ लेवल के पदों पर काम कर सकते हैं।

यही नही अगर आप जॉब नही करना चाहते हैं तो , CA के तौर पर खुद की प्रैक्टिस भी कर सकते है। जहां तक इसमे नौकरी का सवाल है तो देश में जितने भी फाइनेंशियल सेक्टर हैं, वहां CA के लिए जॉब की बेहतररीन संभावनाएं होती हैं। एक चार्टर्ड एकाउंटेंट को काम और जॉब की कभी कमी नहीं पड़ती।

Salary of CA In Hindi

एक CA का करियर जितना आकर्षक होता है, उतनी ही सैलरी इस फील्ड में शानदार होती है। CA का काम भी बहुत मेहनत और जिम्मेदारी का होता है। कोर्स के बाद में एक CA को जूनियर लेवल पर 30 से 40 हजार रुपये प्रतिमाह मिलने लगते हैं और वंही कुछ अनुभग होने के बाद सीनियर लेवल पर 50 से 70 हजार रुपये प्रतिमाह तक कमा सकता है। वहीं 3 से 4 वर्ष का अनुभव होने के बाद 1 से 2 लाख रुपये प्रतिमाह तक सैलरी मिल सकती है।

आप आपको CA Full Form in Hindi इसके बारे में जानकारी मिल गई है, चलिये अब हम आपको CA से संबंधित और भी अन्य महत्वपूर्ण सवालों के जबाब देते हैं, जिनको अक्सर लोग गूगल में सर्च करते रहते हैं।

CA में CPT एग्जाम क्या है?

सीपीटी का पूरा नाम कॉमन प्रोफिसिएंसी टेस्ट (CPT) होता है। सीए बनने के लिए शुरूआत कॉमन प्रोफिसिएंसी टेस्ट (सीपीटी) से होती है। जिसे पास करने के बाद ही उम्मीदवार अपने लक्ष्य के पहले द्वार को पार कर दूसरे द्वार पर पहुंच सकता है। इसमें चार विषय शामिल होते हैं, अकाउंटिंग, जनरल इकोनॉमिक्स, मर्केटाइल लॉ, एवं क्वांटिटेटिव एप्टीटयूड होते हैं।

CA में IPCC एग्जाम क्या है?

सीपीटी एग्जाम पास करने के बाद कैंडिडेट को इटीग्रेटेड प्रोफेशनल कंपीटेंस कोर्स (IPCC) में बैठ सकते हैं। इसके लिए उम्मीदवार को 9 महीने की तैयारी का समय मिलता है। आईपीसीसी का एग्जाम क्लियर करने के बाद में स्टूडेंट्स को एक सीए के अंडर में इंटर्न के तौर पर काम करना होता है। इसके बाद फाइनल एग्जाम के लिए एलिजिबल होने से पहले उम्मीदवार को तीन साल तक ये इंटर्नशिप करनी पड़ती है।

इसमें अकाउंटिंग, एथिक्स एंड कम्युनिकेशन, बिजनेस और कंपनी लॉ, कास्ट अकाउंटिंग, फाइनेंशियल मैनेजमेंट, एडवांस अकाउंटिंग,टैक्सेशन, आईटी और स्ट्रेटेजिक मैनेजमेंट जैसे आदि विषयों को शामिल किया गया है।

CA की नौकरी क्या है?

सीए की नौकरी चार्टेड अकॉउंटेंट की नौकरी होती है। सीए बनकर देश-विदेश की कंपनियों में फाइनेंस अकाउंट एवं टैक्स डिपार्टमेंट में जॉब कर सकते हैं। इसके अलावा फाइनेंस मैनेजर, अकाउंट मैनेजर और फाइनेंशियल बिजनेस एनालिस्ट के तौर पर भी शानदार कैरियर बना सकते हैं। इनके साथ ही ऑडिटिंग इंटरनल ऑडिटिंग, मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ जैसे महत्वपूर्ण पदों पर भी काम कर सकते हैं। किसी भी कंपनी में फाइनेंस डायरेक्टर, चीफ अकाउंटेंट, फाइनेंशियल कंट्रोलर और
चीफ इंटरनल ऑडिटर जैसे पदों पर भी काम कर सकते हैं।

सीए की 1 महीने की सैलरी कितनी होती है?

सीए की महीने की सैलरी 40 हजार से लेकर कई लाख रुपये तक हो सकती है।

CA ki fees kitni hoti hai

ग्रेजुएशन के बाद में CA की फीस लगभग 19 हजार से 27 हजार रुपये के आसपास है। इसमें पंजीकरण शुल्क, पाठ्यक्रम शुल्क लेख पंजीकरण शुल्क और सूचना प्रौद्योगिकी शुल्क ये सभी शामिल हैं। वहीं इसमे आपकी फीस इस पर भी निर्भर करती है कि इन परीक्षाओं को पास करने के लिए आप कितने अटेंप्ट लेते हैं। अगर आप CA की कोचिंग करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 50 हजार से लेकर 2 लाख रूपये तक खर्च करने पड़ सकते हैं।

CA बनने के लिए क्या करे?

सीए बनने के लिए आपको सबसे पहले सीपीटी एग्जाम देना होगा और उसके बाद IPCC एग्जाम पास करना होगा। अगर आप ग्रेजुएशन कर चुके है तो आपको सीपीटी एग्जाम देने की जरूरत नही होती है। आपको सिर्फ IPCC एग्जाम देना होगा।

CA Banne Ke Liye konsa Subject Lena Chahiye

सीए बनने के लिए कॉमर्स सब्जेक्ट से पढाई करनी चाहिए।

CA exam eligibility

सीए एग्जाम में आप 12वीं और ग्रेजुएशन के बाद बैठ सकते हैं।

उम्मीद है CA Full Form in Hindi ये लेख आपको पसंद आया होगा, क्योंकि यंहा पर मैंने CA से संबंधित सारी जानकारी दी है, जोकि आपके लिए बहुत ही फायदेमंद होगी। इस आर्टिकल को लेकर आपके अंदर कोई सवाल या सुझाव हैं तो आप कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं।

Leave a Comment